Breaking News
मुख्यमंत्री धामी ने आगामी मानसून की तैयारियों की बैठक में अधिकारियों को दिये निर्देश
18 जून को वाराणसी में किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री मोदी
श्री महंत इन्दिरेश नेत्र बैंक बना उत्तराखण्ड का पहला ट्रेनिंग सेंटर
मोदी कैबिनेट 3.0 में सूचना-प्रसारण मंत्री बने अश्विनी वैष्णव ने संभाला पदभार
राज्यपाल ने ‘राजभवन मैत्री चैटबॉट’ का किया लोकार्पण
सीएम धामी ने नई दिल्ली में निर्माणाधीन ‘उत्तराखण्ड निवास’ का किया निरीक्षण
फूड सेफ्टी कनेक्ट एप पर करें मिलावटखोरी से जुड़ी शिकायत
विभिन्न पदों पर पुलिस भर्ती परीक्षा के फिजिकल टेस्ट की डेट आगे खिसकी
आईएमए से पासआउट होकर 355 युवा भारतीय सेना में बने अफसर

नये कानून को लेकर पुलिस लाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन, नये कानूनो के बारें में दी गई विस्तृत जानकारी

देहरादून। एक जुलाई 2024 से आई0पी0सी0, सी0आर0पी0सी0 तथा एविडेंस एक्ट के स्थान पर सम्पूर्ण भारत में लागू हो रहे तीन नये कानून भारतीय न्याय सहिंता, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता तथा भारतीय साक्ष्य अधिनियिम के क्रियान्वयन के सम्बंध में सभी अधिकरियों/कर्मचारियों को नये कानूनो के बारें में विस्तृत जानकारी देने के लिए जनपद देहरादून में 4 चरणों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

13 मई 2024 से आयोजित किये गये तृतीय चरण के प्रशिक्षण कार्यक्रम का 17 मई को विधिवत समापन हुआ। अन्तिम दिवस के प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान सभी अधिकारी/कर्मचारियो की नये कानून के विषय में दी गयी जानकारी के बारें में परीक्षा आयोजित की गई। परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले अधिकारी/कर्मचारियों को पुरूस्कार देकर सम्मानित किया गया।

प्रशिक्षण के दौरान विधि क्षेत्र से आये विशेषज्ञ ने नये कानूनो के संबंध में ग्रुप डिस्कशन के माध्यम से उपस्थित अधिकारियों/ कर्मचारियों से चर्चा की और उन्हें नये कानूनों की बारीकियों के बारें में दी गई जानकारियों के विषय मे उनसे जानकारी प्राप्त की गई।
पांच दिवस तक चले प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान सभी अधि0/कर्म0 को परिवर्तित नये कानूनों के अन्तर्गत पुरानी धाराओ में किये गये सशोंधनों तथा वर्तमान परिप्रेक्ष्य में उनमें जोड़ी गई नई धाराओं के सम्बंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई, साथ ही परिवर्तित कानूनों का पुलिसिंग के साथ-साथ न्यायालय के विचारण पर पडने वाले प्रभावों के सम्बन्ध व उनके प्रभावी क्रियान्वयन के सम्बन्ध में भी जानकारी प्रदान की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top