Friday, February 3, 2023
Home उत्तराखंड " मानसखंड कॉरिडोर बनाने के लिए कसरत शुरू "

” मानसखंड कॉरिडोर बनाने के लिए कसरत शुरू “

 उत्तराखंड :

गढ़वाल में चारधाम की तरह कुमाऊं मंडल में नया मानसखंड कॉरिडोर बनाने के लिए शासन ने कसरत शुरू कर दी है। मुख्य सचिव डॉ. एसएस संधु ने मानसखंड मंदिरमाला मिशन के लिए कुमाऊं मंडल के सभी जिलाधिकारियों को तत्काल सूचना भेजने के निर्देश दिए हैं। मिशन के तहत कुमाऊं मंडल के 29 पौराणिक मंदिर चिह्नित किए गए हैं।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, लोक निर्माण विभाग और पर्यटन विभाग भी मंदिरमाला मिशन के तहत मंदिरों को रोड व रोपवे कनेक्टिविटी की संभावना तलाश रहे हैं। प्रमुख सचिव (लोनिवि) आरके सुधांशु के मुताबिक, जिलाधिकारियों से रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद विभाग मंदिरों को जोड़ने वाली सड़कों के चौड़ीकरण और वहां पहुंचने के लिए मार्गों को सुगम बनाने की योजना पर काम करेगा।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, मानसखंड कॉरिडोर के तहत करीब 21 रोपवे बनाने की योजना है। सही संख्या का पता जिलाधिकारियों की रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद ही चलेगा।

मुख्यमंत्री  के निर्देश हैं कि मानसखंड की परिकल्पना के तहत आने वाले जितने भी धार्मिक स्थल हैं और पर्यटक स्थल हैं, उन्हें अच्छी कनेक्टिविटी दी जाए। हम लोगों ने इस पर काम करना शुरू कर दिया है। इसके इस्टीमेट तैयार करने को कह दिया गया है। तीर्थांटन और पर्यटन की दृष्टि से यह बहुत महत्वपूर्ण योजना है।- आरके सुधांशु, प्रमुख सचिव, लोनिवि

मंदिरमाला मिशन में शामिल होने वाले जिलों के मंदिर

अल्मोड़ा : जागेश्वर महादेव, चितई गोलज्यू मंदिर, सूर्यदेव मंदिर, नंदादेवी मंदिर कसारदेवी मंदिर, झांकर सैम मंदिर
पिथौरागढ़ : पाताल भुवनेश्वर, हाटकालिका मंदिर, मोस्टमाणु मंदिर, बेरीनाग मंदिर, मलेनाथ मंदिर, थालकेदार मंदिर
बागेश्वर : बागनाथ महादेव, बैजनाथ मंदिर, कोट भ्रामरी मंदिर
चंपावत : पाताल रुद्रेश्वर गुफा, गोल्ज्यू मंदिर, निकट गोरलचौड मैदान, पूर्णागिरी मंदिर, बाराही देवी मंदिर, देवीधुरा मंदिर, रीठा मीठा साहिब मंदिर
नैनीताल : गोल्ज्यू मंदिर, नैनादेवी मंदिर, गर्जियादेवी मंदिर कैंचीधाम मंदिर, हनुमान मंदिर
ऊधमसिंह नगर : चैती (बाल सुंदरी) मंदिर, अटरिया देवी मंदिर व नानकमत्ता साहिब

गढ़वाल को केदारखंड और कुमाऊं को मानसखंड मानते हैं

आध्यात्मिक एवं धार्मिक रूप से उत्तराखंड को शिव की भूमि माना जाता है। गढ़वाल मंडल के पर्वतीय क्षेत्रों को भगवान केदारनाथ की भूमि मानते हुए केदारखंड पुकारा जाता है। कुमाऊं मंडल के पर्वतीय क्षेत्रों को कैलाश मानसरोवर की जलभूमि मानते हुए मानसखंड कहा जाता है।

ऐटकिन्सन के गजेटियर में मानसखंड का उल्लेख

एडविन टी ऐटकिन्सन के हिमालयन गजेटियर में मानसखंड का जिक्र है। यह भू-भाग पश्चिम में नंदा देवी पर्वत व पूर्व में नेपाल में स्थित काकगिरी पर्वत तक वर्णित है। वर्तमान में पूर्व में भारतीय सीमा महाकाली नदी तक लगा है। मानसखंड में कैलाश मानसरोवर पर्वत, मेरू, पंचाचूली, लिपुलेख एवं जौहर मुख्य पर्वत हैं। काली कुमाऊं मानसखंड का अंतिम स्थल है। इस क्षेत्र में रामगंगा, सरयू, गोरी, काली नदी, पिंडर, कोसी नदियां हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

केन्द्रीय मंत्री गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी राज्य मंत्री कुशवाह ने की भेंट

मध्य-प्रदेश केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने नई...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी : ” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की बन गई है।”

उत्तराखंड, Dehradun ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की...

मंत्री सतपाल महाराज ने चौबट्टाखाल को फिर दिया 37 करोड़ की योजनाओं का तोहफा

जयहरीखाल (पौडी)। चौबट्टाखाल विधायक और प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने एक...

मार्शल आर्ट सिर्फ एक खेल ही नहीं बल्कि सिखाता है आत्म सुरक्षा का गुर-रेखा आर्या

  रुड़की   प्रदेश की खेल मंत्री रेखा आर्या आज रुड़की स्थित कोर विश्वविद्यालय पहुंची जहां वह विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित 23वीं SQAY "मार्शल आर्ट राष्ट्रीय स्तरीय...

मंत्री सतपाल महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता : राज्यपाल मंगुभाई पटेल

उच्च शिक्षा की उत्कृष्टता, प्रसार और मूल्यांकन के प्रति सजग हों  -   राज्यपाल पटेल स्टेट लेवल एनालिसिस ऑफ एक्रिडेटेड हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन के प्रतिवेदन का...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्लेबेक सिंगर शान, नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर शिवमणि का स्वागत किया

मध्य-प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रसिद्ध प्लेबेक सिंगर शान तथा नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर  शिवमणि का मुख्यमंत्री निवास परिसर स्थित समत्व भवन में...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

 उत्तराखंड   Dehradun  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की स्टेच्यू ऑफ वननेस प्रोजेक्ट की समीक्षा

ओंकारेश्वर के मास्टर प्लान एवं इंदौर से ओंकारेश्वर की फोर लेन कनेक्टिविटी पर भी ध्यान दें आदि शंकराचार्य की प्रतिमा अगस्त 2023 तक स्थापित की...