Friday, February 3, 2023
Home मध्यप्रदेश राज्यपाल से राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय अध्ययन दल के प्रतिभागियों ने की शिष्टाचार...

राज्यपाल से राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय अध्ययन दल के प्रतिभागियों ने की शिष्टाचार भेंट

मध्यप्रदेश

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि जमीनी सच्चाईयों से रूबरू होना ही अनुभव का सबसे प्रभावी तरीका है। उन्होंने कहा कि उपलब्धियों की चमक के पीछे के कड़े परिश्रम और प्रयासों की जानकारी लेकर ही उनका अनुसरण किया जा सकता है।

     राज्यपाल पटेल आज राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय द्वारा आयोजित अध्ययन दल के सदस्यों से चर्चा कर रहे थे। दल में भारतीय और मित्र देशों के सैनिक, पुलिस और सिविल सेवा के वरिष्ठ अधिकारी शामिल थे।

     राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि देश की सर्वाधिक अनुसूचित जनजातीय आबादी, प्रचुर वन, प्राकृतिक संसाधन, शांति प्रिय नागरिक और सांप्रदायिक सौहार्द मध्यप्रदेश की पहचान है। मध्यप्रदेश ऊर्जा उत्पादन में आत्म-निर्भर है। पेयजल आपूर्ति, स्वच्छता, स्वास्थ्य, शिक्षा, कौशल विकास, रोजगार, स्वरोजगार, खेलकूद, कृषि, ग्रामीण, शहरी विकास, उद्योग, सिंचाई सहित अधो-संरचना के सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धियाँ हासिल की हैं। प्रदेश को देश के स्वच्छ भारत सर्वेक्षण 2020-21 में तीसरा, इंदौर को पांचवीं बार पहला और भोपाल को स्वच्छ राजधानी का पहला पुरस्कार मिला है। नागरिकों की समस्याओं के ऑनलाइन समाधान के साथ ही लोक सेवा गारंटी अधिनियम को देश में लागू करने वाला मध्यप्रदेश देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान आंतरिक सुरक्षा, सामरिक व्यवस्थाओं को असरदार बनाने के प्रयासों पर पारस्परिक चिंतन किया जाए। आंतरिक सुरक्षा, शांति और व्यवस्था की बाधाओं और उनके समाधान के प्रयासों पर अनुभवों को भी आपस में अवश्य साझा करें।

     राज्यपाल को प्रशिक्षण कार्यक्रम के बारे में राष्ट्रीय रक्षा महाविद्यालय के संकाय सदस्य मेजर जनरल हरि बी. पिल्लई ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय द्वारा वर्ष 1960 में स्थापना के साथ ही प्रतिवर्ष भारत और मित्र देशों के लिए 47 हफ्तों का वार्षिक पाठ्यक्रम संचालित किया जाता है। इस 62 वें प्रशिक्षण में 22 मित्र देशों सहित सेना और सिविल सेवा के 120 अधिकारी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि 15 प्रतिभागियों के आठ दल देश के विभिन्न अंचलों का भ्रमण कर रहे हैं। मध्यप्रदेश के भ्रमण पर आये दल में भारतीय प्रतिभागियों के साथ ही कोरिया, श्रीलंका, ओमान और उज़्बेकिस्तान के अधिकारी शामिल हैं।

     प्रशासन अकादमी की संचालक श्रीमती सोनाली पोंक्षे वायंगणकर ने बताया कि दल द्वारा भोपाल स्थित शौर्य स्मारक का भ्रमण कर लिया गया है। साँची, इंदौर और मंडला जिलों का भ्रमण किया जाना है। भ्रमण के दौरान दल के सदस्य प्रदेश में स्वच्छता, स्मार्ट सिटी, महिला स्व-सहायता समूह, अनुसूचित जनजाति और औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर का भ्रमण करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

केन्द्रीय मंत्री गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी राज्य मंत्री कुशवाह ने की भेंट

मध्य-प्रदेश केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने नई...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी : ” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की बन गई है।”

उत्तराखंड, Dehradun ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की...

मंत्री सतपाल महाराज ने चौबट्टाखाल को फिर दिया 37 करोड़ की योजनाओं का तोहफा

जयहरीखाल (पौडी)। चौबट्टाखाल विधायक और प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने एक...

मार्शल आर्ट सिर्फ एक खेल ही नहीं बल्कि सिखाता है आत्म सुरक्षा का गुर-रेखा आर्या

  रुड़की   प्रदेश की खेल मंत्री रेखा आर्या आज रुड़की स्थित कोर विश्वविद्यालय पहुंची जहां वह विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित 23वीं SQAY "मार्शल आर्ट राष्ट्रीय स्तरीय...

मंत्री सतपाल महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता : राज्यपाल मंगुभाई पटेल

उच्च शिक्षा की उत्कृष्टता, प्रसार और मूल्यांकन के प्रति सजग हों  -   राज्यपाल पटेल स्टेट लेवल एनालिसिस ऑफ एक्रिडेटेड हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन के प्रतिवेदन का...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्लेबेक सिंगर शान, नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर शिवमणि का स्वागत किया

मध्य-प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रसिद्ध प्लेबेक सिंगर शान तथा नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर  शिवमणि का मुख्यमंत्री निवास परिसर स्थित समत्व भवन में...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

 उत्तराखंड   Dehradun  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की स्टेच्यू ऑफ वननेस प्रोजेक्ट की समीक्षा

ओंकारेश्वर के मास्टर प्लान एवं इंदौर से ओंकारेश्वर की फोर लेन कनेक्टिविटी पर भी ध्यान दें आदि शंकराचार्य की प्रतिमा अगस्त 2023 तक स्थापित की...