Friday, February 3, 2023
Home पर्यटन देवता ने पूरे मलाणा गांव में शराब मीट मछली अंडा खाने बेचने...

देवता ने पूरे मलाणा गांव में शराब मीट मछली अंडा खाने बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया

 हिमाचल प्रदेश 

हिमाचल प्रदेश में कुल्लू जिले के देव संस्कृति में जुड़े मलाणा गांव के स्थानीय देवता ने पूरे मलाणा गांव में शराब मीट मछली अंडा खाने बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। जिले के इस गांव में सरकार के नीति नियम नहीं देवता के आदेश चलते हैं और लोग उनका अनुसरण करते हैं । हाल में देवता ने अपने गुर के माध्यम से एक आदेश दिया है कि उसकी परिधि में आने वाले क्षेत्र में कहीं पर भी शराब मीट मथली अंणा की बिक्री व खाने पर प्रतिबंध लगा दिया जाए।

हिमाचल प्रदेश के मलाणा गांव में देव आदेश के अनुसार आदेश का उल्लंघन करने वाले पर 11 सौ से 11 हजार तक का जुर्माना लगाया जाए, यदि कोई व्यक्ति फिर भी न माने तो उसका हुक्का पानी व सामाजिक बहष्किार किया जाय, इस आदेश के बाद गांव में एक बोर्ड लगा कर लोगों को सूचित कर दिया गया है। देवता ने कहा है कि लोगों के शराब पीने व अण्डा मीट खाने से देवसंस्कृति अपवित्र हो रही है और लोग नशे की लत में डूबे रहते हैं। इसलिए इस नियम का कड़ाई से पालन किया जाए।

मलाणा का यह गांव पूरी तरह देवसंस्कृति व देव आदेश से ही चलता है, यहां पर सरकार के आदेश लागू नहीं होते यदि यह प्रयोग सफल हुआ तो निश्चित ही देव आदेश को नमन किया जायेगा और यह सारे देश के लिए एक संदेश होगा।

अब कुछ गाँव के बारे में :

मलाणा या मलाणा गांव कुल्लू जिले में स्थित है जो अपनी अपनी मजबूत संस्कृति और धार्मिक मान्यताओं के लिए जाना जाता है। यह जगह उन लोगों के लिए बहुत खास है जो आध्यात्मिक मार्गदर्शन चाहते हैं। यह स्थल सभी एडवेंचर प्रेमियों के लिए भी आदर्श जगह है क्योंकि मलाणा तक ट्रेकिंग करके भी जा सकते हैं। इसके अलावा मलाणा में मंदिर मदग्नि मंदिर और रेणुका देवी के मंदिर प्रमुख आकर्षण है।

यह दोनों मंदिर एक दूसरे के निकट स्थित हैं, जहाँ विभिन्न देवी देवताओं की पूजा की जाती है। अगर आप मलाणा के इतिहास और यहाँ घूमने के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को जरुर पढ़ें इसमें हम आपको मलाणा के बारे में पूरी जानकारी और इसके पास के प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में बताने जा रहें हैं।

मलाणा के इतिहास की बात करें तो यहाँ के लोग आर्यों के पूर्वज हैं। जिन्हें अपनी स्वतंत्रता मुगल शासनकाल के दौरान मिली जब अकबर ने लोगों की परेशानी दूर करने के लिए इस जगह का दौरा किया था। अकबर ने एक ब्यान भी पारित किया कि गाँव के लोगों को अब कर( टैक्स) भुगतान करने की जरूरत नहीं है। यह एक ऐसा लौता गाँव हैं जहाँ पर अकबर की पूजा की जाती है। इसके अलावा अन्य सबूत कहते हैं कि मलाणा के लोग अलेक्जेंडर द ग्रेट (सिकंदर )की सेना के बंशज हैं।

यहाँ की सबसे खास बात यह है कि इस जगह पर भारतीय कानून नहीं चलते, यहाँ की अपनी संसद है जो सारे फैसले करती है। दिल्ली के व्यापारी आर्यन शर्मा ने 2004 में मलाणा को अपनाया। साल 2008 जनवरी में, मलाणा में आग लगने से प्राचीन मंदिरों के कई सांस्कृतिक संरचना नष्ट हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

केन्द्रीय मंत्री गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी राज्य मंत्री कुशवाह ने की भेंट

मध्य-प्रदेश केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने नई...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी : ” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की बन गई है।”

उत्तराखंड, Dehradun ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की...

मंत्री सतपाल महाराज ने चौबट्टाखाल को फिर दिया 37 करोड़ की योजनाओं का तोहफा

जयहरीखाल (पौडी)। चौबट्टाखाल विधायक और प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने एक...

मार्शल आर्ट सिर्फ एक खेल ही नहीं बल्कि सिखाता है आत्म सुरक्षा का गुर-रेखा आर्या

  रुड़की   प्रदेश की खेल मंत्री रेखा आर्या आज रुड़की स्थित कोर विश्वविद्यालय पहुंची जहां वह विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित 23वीं SQAY "मार्शल आर्ट राष्ट्रीय स्तरीय...

मंत्री सतपाल महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता : राज्यपाल मंगुभाई पटेल

उच्च शिक्षा की उत्कृष्टता, प्रसार और मूल्यांकन के प्रति सजग हों  -   राज्यपाल पटेल स्टेट लेवल एनालिसिस ऑफ एक्रिडेटेड हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन के प्रतिवेदन का...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्लेबेक सिंगर शान, नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर शिवमणि का स्वागत किया

मध्य-प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रसिद्ध प्लेबेक सिंगर शान तथा नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर  शिवमणि का मुख्यमंत्री निवास परिसर स्थित समत्व भवन में...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

 उत्तराखंड   Dehradun  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की स्टेच्यू ऑफ वननेस प्रोजेक्ट की समीक्षा

ओंकारेश्वर के मास्टर प्लान एवं इंदौर से ओंकारेश्वर की फोर लेन कनेक्टिविटी पर भी ध्यान दें आदि शंकराचार्य की प्रतिमा अगस्त 2023 तक स्थापित की...