Sunday, February 5, 2023
Home अंतर्राष्ट्रीय अब श्रीलंका की राह पर नेपाल ,घट रहा है विदेशी मुद्रा भंडार...

अब श्रीलंका की राह पर नेपाल ,घट रहा है विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से

NEPAL :

नेपाल का विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से खाली हो रहा है। आयात बिल बढ़ने के कारण देश का व्यापार घाटा बढ़ता जा रहा है और उसका असर विदेशी मुद्रा भंडार पर पड़ रहा है। इसको लेकर अब अंदेशा जताया जा रहा है कि नेपाल लंबे समय तक अपने आयात के मौजूदा स्तर को कायम नहीं रख पाएगा। विश्लेषकों के मुताबिक इस वित्त वर्ष में नेपाल के आयात की मात्रा बढ़ी है। उधर कई आयातित वस्तुओं के महंगी हो जाने के कारण उनके लिए ज्यादा कीमत चुकानी पड़ी है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल और दूसरी कई जरूरी चीजों के दाम बढ़ने का खराब असर नेपाल के राजकोष पर पड़ रहा है।

आयात बिल में 20 फीसदी का इजाफा

नेपाल का कुल जितना अंतरराष्ट्रीय कारोबार होता है, उसमें 90 फीसदी हिस्सा आयात का है। इसलिए आयात बिल बढ़ने का उसकी आर्थिक हालत पर सीधा असर पड़ता है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के सांख्यिकी प्रभाग के पूर्व प्रमुख माणिक लाल श्रेष्ठ ने कहा है- ‘इस वित्त वर्ष की शुरुआत से ही दाम बढ़ने के कारण आयात बिल में 20 फीसदी का इजाफा हो गया।’ पत्रकारों के एक सेमीनार को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस साल जुलाई से मार्च तक के आयात की मात्रा और मूल्य पर गौर करने पर दुनिया में बढ़ी महंगाई और नेपाल के बढ़े आयात बिल में सीधा संबंध नजर आता है। उन्होंने कहा कि इसका असर विदेशी मुद्रा भंडार पर भी पड़ रहा है।

जानकारों के मुताबिक नेपाल का विदेशी मुद्रा भंडार इस वित्त वर्ष के आरंभ से ही दबाव में है। वित्त वर्ष के पहले आठ महीनों में नेपाल विदेशी मुद्रा भंडार में 16.3 फीसदी की गिरावट आई। अब जितनी विदेशी मुद्रा बची है, उससे छह से सात महीनों तक के आयात का बिल चुकाया जा सकता है। इसलिए तुरंत संकट नहीं है। लेकिन अगर लंबे समय तक कच्चे तेल की महंगाई बनी रही, तो नेपाल संकट में फंस सकता है।

रूस-यूक्रेन युद्ध का असर

विश्व बैंक ने पिछले 26 अप्रैल को कमोडिटी मार्केट आउटलुक रिपोर्ट जारी की थी। उसमें कहा गया कि यूक्रेन युद्ध से विश्व कमोडिटी मार्केट को तगड़ा झटका लगा है। इससे विश्व व्यापार, उत्पादन और उपभोग के पैटर्न में बदलाव आ गया है। इस वजह से 2024 तक कीमतों का स्तर ऊंचा बना रहेगा। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर ऐसा हुआ, तो नेपाल के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी हो सकती है। कमोडिटी के दाम बढ़ने का मतलब यह हुआ है कि नेपाल को अपने पहले जितने आयात के लिए ही अधिक कीमत चुकानी पड़ रही है। माणिक लाल श्रेष्ठ ने कहा- ‘आयातित वस्तुओं के दाम बढ़ने के कारण नेपाल का चालू खाते का घाटा बढ़ जाएगा। उसका दबाव अगले वित्त वर्ष में विदेशी मुद्रा भंडार पर महसूस किया जाएगा।’

नेपाल को विदेशी मुद्रा की आमद मुख्य रूप से विदेशों में काम करने वाले नेपालियों की भेजी गई कमाई से होती है। पिछले पांच वर्षों में इस स्रोत का हिस्सा औसतन 54.6 फीसदी रहा है। काठमांडू स्थित थिंक टैंक इंस्टीट्यूट फॉर इंटीग्रेटेड डेवलपमेंट स्टडीज के कार्यकारी निदेशक बिस्वास गौचान ने हाल में एक प्रेजेंटेशन में बताया- 2015-16 तक बाहर से कमा कर भेजी गई रकम व्यापार घाटे को पाट देती थी। लेकिन पिछले पांच वर्षों में इस स्रोत से आमदनी सिर्फ 7.8 फीसदी बढ़ी है। नतीजतन चालू खाते के घाटे में औसतन 18 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

सायबर क्राइम, नशे की बढ़ती प्रवृत्ति पर नियंत्रण और पुलिसिंग@2047 के स्वरूप पर विचार-विमर्श के लिए हो कॉन्क्लेव – मुख्यमंत्री चौहान

प्रदेश पुलिस ने कोरोना काल में सड़क पर देश-भक्ति और जन-सेवा के भाव को चरितार्थ किया मध्यप्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बेहतर देश में मध्यप्रदेश पुलिस...

महाराज ने एशिया के पहले होम स्टे हब तिवाड गांव मरोड को किया पर्यटन ग्राम घोषित

सतपाल महाराज ने कुलानंद आश्रम सेम-मुखेम में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा में भी किया प्रतिभाग टिहरी। वर्ष 2023 को विश्व स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष...

मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु की अध्यक्षता मध्य क्षेत्रीय परिषद की स्थायी समिति की 15वीं बैठक का आयोजन किया गया।

 उत्तराखंड   Dehradun   उत्तराखण्ड के मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु की अध्यक्षता में शनिवार को देहरादून में मध्य क्षेत्रीय परिषद की स्थायी समिति की 15वीं बैठक...

राष्ट्र सर्वोपरि की भावना से ओतप्रोत है हमारे वीर सैनिक – मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

उत्तराखंड, Dehradun ; नैनीताल बैंक द्वारा जोशीमठ भूधंसाव से प्रभावितों के लिये मुख्यमंत्री को सौंपा 20 लाख का चेक ’’राष्ट्र-सर्वोपरि’’ की भावना से ओत-प्रोत हमारे वीर...

धामी सरकार लाने जा रही है सख्त नकलरोधी कानून, पटवारी भर्ती से पहले लग सकती है नकलरोधी कानून पर मुहर

सीएम धामी बोले गड़बडी करने वालो को कतई बख्शा नहीं जायगा देहरादून। उत्तराखंड में पटवारी-लेखपाल भर्ती की परीक्षा से पहले देश का सबसे सख्त नकलरोधी...

“घर वहीं है जहां दिल है” इस प्रकार के अभिनव प्रयासों से युवाओ को मिलती है प्रेरणा – रेखा आर्या

कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने किया इंटिरियर डिजाइन के शो रूम का विधिवत उद्घाटन देहरादून। कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने आज राजपुर रोड स्थित आज देहरादून...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भिण्ड से करेंगे विकास यात्रा का शुभारंभ

मुख्यमंत्री जन-सेवा अभियान के स्वीकृति-पत्र और हितलाभ का होगा वितरण भिण्ड, मुरैना और श्योपुर के पात्र हितग्राही होंगे लाभान्वित मुख्यमंत्री ने की संत रविदास जयंती पर...

प्रभावित को धनराशि समय पर न दिए जाने पर भड़के मंत्री, अधिकारियों की लगाई क्लास

महाराज ने जनपद को दी 14 करोड़ की सौगात, 12.46 करोड़ की धनराशि ग्राम पंचायतों के खाते में की ट्रांसफर  उत्तराखंड   टिहरी  पुनर्वास हेतु सरकार द्वारा निर्गत...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से वेंकटेश्वरा मेडिकल कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी गजरौला-मेरठ के चेयरमैन एवं चांसलर डॉ. सुधीर गिरी ने भेंट की।

उत्तराखंड, Dehradun  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से गुरुवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित कैंप कार्यालय में वेंकटेश्वरा मेडिकल कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी गजरौला-मेरठ के चेयरमैन एवं चांसलर...

केन्द्रीय मंत्री गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी राज्य मंत्री कुशवाह ने की भेंट

मध्य-प्रदेश केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने नई...