Saturday, December 3, 2022
Home उत्तराखंड CM के नाम मेनका गांधी की चिट्ठी से उत्तराखंड सरकार में खलबली,...

CM के नाम मेनका गांधी की चिट्ठी से उत्तराखंड सरकार में खलबली, भ्रष्टाचार के बड़े आरोप

एनिमल लवर और एक्टिविस्ट के तौर पर मशहूर मेनका गांधी ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को लिखा है कि उनके अफसरों की मिलीभगत खनन माफिया के साथ है. जानिए कितने गंभीर हैं आरोप और पूरा मामला क्या है.

देहरादून :

ऐसा इस साल दूसरी बार हुआ है, जब पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के पत्र से उत्तराखंड सरकार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं. मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के नाम लिखी ताज़ा चिट्ठी में भाजपा सांसद गांधी ने नैनीताल और उधमसिंह नगर ज़िलों में माइग्रेटरी बर्ड कम्युनिटी रिज़र्व की योजना को खनन माफिया के इशारे पर तैयार किया गया प्लान बताते हुए साफ तौर पर मांग की है कि इसे तत्काल निरस्त कर दिया जाए. यही नहीं, चिट्ठी में लोकसभा सदस्य गांधी ने साफ तौर पर आरोप लगाया है कि इसमें उत्तराखंड सरकार के अधिकारियों का खनन माफिया के साथ सीधा गठजोड़ चल रहा है. इस मामले में कथित तौर पर भाजपा के दो बड़े नेताओं के नाम भी सामने आ रहे हैं.

मेनका गांधी के पत्र के बाद उत्तराखंड सरकार में खलबली मच जाने की बातें भी सामने आ रही हैं क्योंकि गंभीर आरोप और सवाल सीधे तौर पर दागे गए हैं. गांधी ने सीएम से माइग्रेटरी बर्ड रिज़र्व बनाए जाने संबंधी कई सवाल पूछते हुए लिखा है कि इन तमाम बातों की जानकारी उन्हें दी जाए. यह भी लिखा है कि उन्होंने पहले भी इस मामले के बारे में जानकारी और जांच के लिए पत्र लिखा था, लेकिन उसका कोई जवाब उन्हें आज तक नहीं मिला. जानिए कि गांधी ने पत्र में क्या लिखा है और क्या है पूरा मामला.

मेनका गांधी ने कौन से सवाल उठाए?
बीजेपी सांसद ने 22 जून को एक पत्र सीएम तीरथ सिंह रावत के नाम लिखा, जो बेहद चर्चा में आ गया है. मीडिया में इससे जुड़ी खबरों के बीच एक समाचार वेबसाइट ने इस पत्र की कॉपी प्रकाशित की है, जिसके मुताबिक गांधी ने लिखा है कि 26 अक्टूबर 2020 को भी उन्होंने इस मामले में उत्तराखंड सरकार को पत्र लिखा था, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला. बहरहाल, बिंदुवार जानें कि गांधी ने कौन से सवाल खड़े किए हैं.

uttarakhand news, uttarakhand chief minister, uttarakhand scam, uttarakhand scandal, उत्तराखंड न्यूज़, उत्तराखंड घोटाला, उत्तराखंड मुख्यमंत्री, खनन घोटाला
पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के समय शुरू हुए मामले पर मेनका गांधी ने पत्र लिखा है.

1. क्या माइग्रेटरी बर्ड्स कोई तालाब खोदकर लाई जा सकती हैं?
2. क्या अधिकारियों ने माइग्रेटरी बर्ड्स को लेकर कोई सर्वे करवाया? कोई सूची तैयार की?
3. कौन से माइग्रेटरी बर्ड्स उत्तराखंड आती हैं, कहां से आती हैं, राज्य में कहां पाई जाती हैं?
4. कम्युनिटी रिज़र्व बनाने के लिए और कौन सी जगहें चुनी गई हैं?

क्या हैं मेनका गांधी के आरोप?

गांधी का आरोप है कि इस तरह से तालाब खोदकर प्रवासी पक्षियों को बुलाया जाना संभव नहीं है इसलिए स्पष्ट है कि खनन माफिया को बड़ा अवसर देना ही इस पूरी योजना का मकसद है, जिसे नैनीताल के बैलपड़ाव और उधमसिंह नगर के बाजपुर में लागू किए जाने की तैयारी की जा रही है. दूसरा गंभीर आरोप गांधी ने यह लगाया ​है कि इस मामले में तीरथ सिंह रावत सरकार के अधिकारी खनन माफिया के साथ सीधा संबंध रखते हैं और उन्हें फायदा पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं.

क्या है यह पूरा मामला?

वास्तव में अगस्त 2020 में उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने एक आदेश जारी करते हुए बैलपड़ाव व बाजपुर में माइग्रेटरी पक्षियों को आकर्षित करने के लिए कम्युनिटी रिज़र्व बनाने की योजना पर मुहर लगाई थी. इसके बाद मार्च 2021 में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत बन गए, लेकिन गांधी के अक्टूबर 2020 के पत्र में उठाई गई आपत्तियों और आरोपों का कोई जवाब अब तक राज्य सरकार ने नहीं दिया. गांधी ने साफ तौर पर कहा था कि इस तरह से प्रवासी पक्षी कहीं नहीं आते. आर्टिफिशियल तौर पर तैयार किए गए ईको सिस्टम को तैयार होने में कई साल लग जाते हैं.

जब गांधी ने लगाए थे 3000 करोड़ के घोटाले के आरोप

इससे पहले भी मेनका गांधी उत्तराखंड सरकार को निशाना बना चुकी हैं. इसी साल 5 जनवरी को लिखे एक पत्र में उन्होंने उत्तराखंड सरकार के शीप और वूल विकास बोर्ड में भारी भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए लिखा था, ‘3000 करोड़ रुपये के लोन घोटाले का पर्दाफाश हो, इससे पहले मेरा मशवरा है कि यह कार्यक्रम तुरंत बंद कर दिया जाए. कर्ज़ की किसी रकम को चुराने का यह मामला बेहद शर्मनाक है और कोयला व बोफोर्स कांड जितना बड़ा घपला है.’

source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

 बारात ले जा रही एक कार खाई में गिरी, घटनास्थल पर 4 की मौत तथा 2 घायल

धौलछीना  /  भैसियाछाना अभी-अभी भैसियाछाना ब्लॉक की जमरानी बैंड काफलीगैर मोटर मार्ग में बखरियां टाना के पास बारात ले जा रही एक अल्टो कार UK-18H-6578...

धर्म रक्षक धामी, उत्तराखंड में धर्मांतरण पर बना सख्त कानून, देशभर के साधु-संतों में हर्ष की लहर, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को मिल रही...

उत्तराखंड, देहरादून।  उत्तराखंड विधानसभा में धर्मांतरण पर सख्त कानून बनने से देश के संत-समाज में हर्ष की लहर दौड़ गई है। तमाम साधु-संतों की ओर...

एक्शन में स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर. राजेश कुमार, उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग में जल्द भरें जायेंगे खाली पड़े पद, दूर होगी अस्पतालों में दवाइयों की...

देहरादून । उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग में खाली पड़े पद जल्द भरे जायेंगे। स्वास्थ्य महानिदेशालय में हुई समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर. राजेश कुमार...

Used Car: यहां लगा है पुरानी कारों का बड़ा ‘बाजार’! 50 हजार रुपये से भी कम में गाड़ी खरीदने का मौका

Used Car: अगर किसी व्यक्ति का मन हर दो-तीन साल में कोई नई कार चलाने का करता है या कोई व्यक्ति कम पैसा खर्च करके...

सचिवालय बैडमिंटन अन्तर्विभागीय प्रतियोगिता 17-19 दिसम्बर को

 उत्तराखंड   देहरादून  उत्तराखण्ड सचिवालय बैडमिंटन क्लब की कार्यकारिणी की बैठक शुक्रवार को सचिवालय परिसर स्थित एफ0आर0डी०सी० भवन में आयोजित की गयी। बैठक में निर्णय लिया गया...

प्रदेश में जनता का राज चलेगा, गड़बड़ करने वाला नहीं बचेगा : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

  मध्य-प्रदेश   बैतूल   कुंडबकाजन   मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि नया जमाना आ रहा है। अब प्रदेश में जनता का राज चलेगा, गड़बड़...

सीएम धामी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से शिष्टाचार भेंट कर दी जन्मदिवस की शुभकामना

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को नई दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे. पी नड्डा से शिष्टाचार भेंट की और...

सहकारिता और पशुपालन मंत्रियों ने किया संयुक्त रूप से पोल्ट्री वैली योजना का शुभारंभ

100 करोड़ से अधिक की पोल्ट्री योजना राज्य में पहली बार चलाई जा रही है देहरादून।  कोऑपरेटिव मिनिस्टर डॉ धन सिंह रावत और पशुपालन मंत्री सौरभ...

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान दिलीप वेंगसरकर ने विजेता व उपविजेता खिलाड़ियों को किया सम्मानित

टीम ब्ल्यू को हराकर टीम रेड ने जीता वनडे चैलेंजर्स कप का खिताब देहरादून। प्रथम स्व. अमर सिंह मेंघवाल मेमोरियल वूमेंस वनडे चैलेंजर्स ट्राफी में...

पेसा एक्ट में दिये अपने अधिकारों के बारे में जाने ग्रामीण : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

मैं भाषण देने नहीं पेसा एक्ट पढ़ाने आया हूँ पेसा एक्ट किसी समाज के खिलाफ नहीं सामाजिक समरसता के साथ गठित हो ग्राम सभाएँ सेंधवा जनपद के...