Tuesday, November 29, 2022
Home मध्यप्रदेश मध्य प्रदेश ::: जीएसटी काउंसिल की 43वीं बैठक में वित्त मंत्री देवडा...

मध्य प्रदेश ::: जीएसटी काउंसिल की 43वीं बैठक में वित्त मंत्री देवडा ने की कई मुददों पर चर्चा

मध्य प्रदेश, भोपाल :

मेडिकल आक्सीजन और संबंधित उपकरणों पर जीएसटी 12 से 5 प्रतिशत करने का सुझाव
कैपेसिटी आधारित टेक्सेशन हेतु गठित ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की समिति में श्री देवडा सदस्य नामांकित

वित्त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री श्री जगदीश देवड़ा ने केन्द्र सरकार से मेडिकल आक्सीजन और संबंधित उपकरणों को जीएसटी से छूट देने या जीएसटी कम करने पर विचार करने का सुझाव दिया। ताकि इस क्षेत्र में प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने में सहयोग मिल सके। उन्होने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के सुझाव को मान्य करते हुए इन वस्तुओं पर जीएसटी की दर 12 प्रतिशत के स्थान पर 5 प्रतिशत करने के प्रस्ताव को ऐजेंडा में शामिल करने लिये मुख्यमंत्री की ओर से केन्द्रीय वित्त मंत्री और केन्द्र सरकार का आभार व्यक्त किया।

वित्त मंत्री ने आज जीएसटी काउंसिल की 43वीं बैठक में मध्यप्रदेश के हित में महत्वपूर्ण मुददों पर चर्चा की और कोविड-19 से उपजी स्थिति से अवगत कराया। बैठक में केन्द्रीय वित्तमंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमन, केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री श्री अनुराग ठाकुर उपस्थित थे। श्री देवड़ाने ग्रुप आफ मिनिस्टर्स की अनुशंसाओं का हवाला दिया।

श्री देवड़ा ने कैपेसिटी आधारित टेक्सेशन के लिये गठित ग्रुप ऑफ मिनिस्टर की समिति में सदस्य नामांकित करने के लिये भी केन्द्रीय वित्त मंत्री का आभार व्यक्त किया। यह समिति पान मसाला, गुटका, रेत माइनिंग आदि को कंपोजिशन सुविधा देने, केसीनो, आनलाइन गेमिंग, रेसकोर्स आदि सेवाओं के मूल्यांकन से जुड़े मुददों पर विचार करेगी। उन्होंने केन्द्र की ओर से मध्यप्रदेश को कोविड 19 नियंत्रण में समय पर सहायता देने के लिये मुख्यमंत्री श्री चौहान की ओर से आभार व्यक्त किया। श्री देवड़ा ने कई प्रकार की छूट देने संबंधी जारी किये गये आदेश और कर की दरों में कमी के आदेश प्रभावशील होने की नियत तिथि को रखते हुए एक समान होकर 30 सितम्बर नियत करने का अनुरोध किया।

श्री देवड़ा ने कहा कि जीएसटी क्षतिपूर्ति के अंतर्गत 2020-21 में मध्यप्रदेश को पाँच हजार 293 करोड़ 23 लाख की राशि मिली। इस प्रकार भारत सरकार द्वारा फंड उपलबध कराने के लिये बैक-टू-बैक लोन सुविधा के अंतर्गत 4 हजार 543 करोड़ की राशि मिली। इस प्रकार 2020-21 में कुल 9 हजार 836 करोड़ मिले। इसके लिये भी मुख्यमंत्री की ओर से श्री देवड़ा ने केन्द्र सरकार को धन्यवाद दिया।

श्री देवड़ा ने कहा कि कोविड 19 महामारी के कारण राज्य के राजस्व पर प्रभाव पडेगा। इसलिये इस साल भी बैक टू बैक लोन सुविधा के माध्यम से जीएसटी क्षतिपूर्ति की राशि उपल्ब्ध कराने का अनुरोध किया।

बायोडिग्रेडेबल कैरी बैग पर जीएसटी की दर कम हो

वित्त मंत्री श्री देवड़ा ने केन्द्रीय वित्त मंत्री से बायोडिग्रेडेबल कैरी बैग पर जीएसटी की दर कम करने का आग्रह किया, ताकि इससे पर्यावरण प्रदूषण रोकने में मदद मिले। साथ ही यह स्वच्छ भारत अभियान को गति देने और पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से उचित होगा। आम लोगों में इसके उपयोग का चलन बढेगा। उन्होने कहा कि जीएसटी की दर 18 प्रतिशत से कम करने से इसके उपयोग को व्यापक बढावा मिलेगा।

मंत्री श्री देवड़ा ने ईएनए (एक्स्ट्रा न्यूट्रल एल्कोहल) को जीएसटी दायरे में न रखकर वेट के दायरे में रखने का अनुरोध किया। जीएसटी काउंसिल ने इस बिन्दु पर कोई निर्णय न लिया जाकर आगामी बैठक के लिये स्थगित किया है।

वित्त मंत्री ने पिछले तीन वर्षो की स्थिति की चर्चा करते हुए बताया कि 2018-19 में देश की जीएसटी राजस्व वृद्धि लगभग 5.98 प्रतिशत थी। इसी प्रकार वित्त वर्ष 2019-20 में देश की जीएसटी राजस्व वृद्धि लगभग 3.80 प्रतिशत थी। मध्यप्रदेश की राजस्व स्थिति 2019-20 में ऋणात्मक थी। इसलिये जीएसटी राजस्व की वृद्धि दर 6 प्रतिशत से अधिक माना जाना उचित नहीं होगा। बैंक लोन से भुगतान के बाद भी राज्य का 2020-21 से संबंधित क्षतिपूर्ति दावा 3 हजार 966 करोड़ लंबित है। अत: 2021-22 मे राजस्व की संभावित वृद्धि दर 7 प्रतिशत के स्थान पर 6 प्रतिशत मान्य किया जाना उचित होगा।

बैठक में प्रमुख सचिव वाणिज्यिक कर श्रीमती दीपाली रस्तोगी, प्रमुख सचिव कमर्शियल टेक्स श्री राघवेन्द्र सिंह सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही संभव हो सका जम्मू-कश्मीर में पंचायतों का गठन : महाराज

जम्मू-कश्मीर से आये सैकडों पंचायत प्रतिनिधियों ने की पंचायत मंत्री से भेंट देहरादून। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में ही जम्मू-कश्मीर में पंचायतों का गठन...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नई दिल्ली में मध्यांचल भवन परिसर में रोपा आँवले का पौधा

मध्य प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज दिल्ली प्रवास के दौरान मध्यांचल भवन परिसर में पौध-रोपण किया। मुख्यमंत्री चौहान ने आँवले का पौधा लगाया...

देहरादून चंद्रमणि चौक पर हुआ बड़ा हादसा, बेकाबू ट्रक ने कई लोगों को कुचला

देहरादून। चंद्रमणि चौक पर बड़ा हादसा हो गया,  यहां एक बेकाबू ट्रक ने कई लोगों को कुचल दिया। हादसे में एक की मौत हुई और...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जनपद टिहरी क्षेत्रान्तर्गत परोगी(अगलाड़) थत्यूड़ में विभिन्न विकास योजनाओं का किया लोकार्पण एवं शिलान्यास।

उत्तराखंड, Dehradun  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को जनपद टिहरी क्षेत्रान्तर्गत परोगी(अगलाड़) थत्यूड़ में विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने अठजूला...

मुख्यमंत्री चौहान खरगोन में विधायक बिरला की सुपुत्री के विवाह समारोह में हुए शामिल

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज खरगोन में बड़वाह विधायक सचिन बिरला की सुपुत्री सोनाली के विवाह समारोह में शामिल हुए। मुख्यमंत्री चौहान ने...

डॉ. धन सिंह रावत, स्वास्थ्य मंत्री  : एक क्लिक पर मिलेगी मेडिकल हिस्ट्री

उत्तराखंड, Dehradun आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट बनाने से किसी भी व्यक्ति के लिए स्वास्थ्य दस्तावेज संभाल कर रखने का झंझट नहीं रहेगा। अब तक प्रदेश...

कांग्रेस नेता हरीश रावत : ‘दाढ़ी रखने से कोई गुरु रविंद्रनाथ टैगोर नहीं बन जाता’ 

उत्तराखंड, Dehradun ; कांग्रेस नेता राहुल गांधी की दाढ़ी पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के बयान के बाद पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी उन्हीं...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना।

उत्तराखंड / नई दिल्ली ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुना।...

बच्चे फास्ट फूड से बचें और प्राकृतिक चीजों को अपनाये : राज्यपाल मंगुभाई पटेल

आरोग्य भारती की राष्ट्रीय फिजियोथैरेपी कॉन्फ्रेंस मध्य-प्रदेश, Bhopal ; राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि फिजियोथैरेपी के ज़रिए सम्पूर्ण स्वास्थ्य को ठीक रखा जा सकता...

अब धर्मनगरी की विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संस्थाएं संभालेंगी गंगा घाटों की सफाई और सुंदरीकरण का कार्य

 उत्तराखंड    हरिद्वार  धर्मनगरी की विभिन्न सामाजिक और धार्मिक संस्थाएं अब नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत गंगा घाटों की सफाई और सुंदरीकरण का कार्य संभालेंगी,...