Sunday, November 27, 2022
Home मध्यप्रदेश राज्यपाल मंगुभाई पटेल : " भावी पीढ़ी निर्माण के केन्द्र आँगनवाड़ी और...

राज्यपाल मंगुभाई पटेल : ” भावी पीढ़ी निर्माण के केन्द्र आँगनवाड़ी और प्राथमिक विद्यालय “

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि भावी पीढ़ी निर्माण के केन्द्र आँगनवाड़ी और प्राथमिक विद्यालय होते हैं। जरूरी है कि आँगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका आम बोल-चाल की भाषा में मातृ-शिशु स्वास्थ्य के प्रति जागृति बढ़ाएँ। बच्चों में अच्छी आदतें डालने के लिए प्रेरित और प्रशिक्षित करें। राज्यपाल श्री पटेल मध्यप्रदेश बाल-कल्याण परिषद की वर्चुअल बैठक को आज राजभवन से संबोधित कर रहे थे। बैठक में परिषद के उपाध्यगण, पदाधिकारी और कार्यकारिणी के सदस्य मौजूद थे। 

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने परिषद को बालक-बालिकाओं को शौर्य पुरस्कारों से सम्मानित करने की पहल करने के लिए कहा है। उन्होंने बच्चों की प्रतिभा को प्रदर्शन के अवसर उपलब्ध कराने के प्रयासों की जरुरत बताई। कहा कि बच्चों में असीम सम्भावनाएँ छुपी होती है। उन्हें निखारने और उचित दिशा-दर्शन की जरुरत है। इस कार्य में आँगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों की महत्त्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने एक प्रसंग के माध्यम से बताया कि गुजरात के कच्छ इलाके के एक शिक्षक दंपत्ति ने बिना विशेष साधन और संसाधन के विद्यालय के 350 बच्चों में पर्यावरण संरक्षण के संस्कार डालने के साथ ही पेड़ों से विद्यालय की चाहर दीवारी का निर्माण कर लिया था। उन्होंने बताया कि शिक्षक दंपत्ति ने विद्यालय के बच्चों से स्कूल की सीमा पर एक पौधा लगवा कर कहा कि यह पौधा आपका है। इसकी देखभाल आपकी जिम्मेदारी है। पौधें को पानी देने के लिए उनसे घर में सब्जी धोने के बाद बचें पानी को पात्र में एकत्र कर, उसके द्वारा स्कूल में लगाए गए पौधे में डलवाया। उनके इस कार्य ने स्कूल के चारों ओर हरियाली की दीवार खड़ी कर दी। उन्होंने कहा कि कोविड काल ने ऑक्सीजन और ऑक्सीजन के लिए पेड़ों की महत्ता का सबक दिया है। पेड़ लगाने और उसकी देखभाल के संबंध में जन-जागृति के कार्य व्यापक स्तर किए जाने चाहिए।

राज्यपाल पटेल ने कहा कि बच्चों के खराब स्वास्थ्य को नियति मान कर बैठे रहने की प्रवृत्ति उचित नहीं है। उसे बदलने के प्रयास किए जाने चाहिए। बच्चों के खराब स्वास्थ्य का कारण कुपोषण और माता द्वारा स्तनपान नहीं कराया जाना होते हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए कुपोषण की समस्या को खत्म करना जरुरी है। बच्चों के लिए पोषण आहार के साथ माता का दूध भी जरुरी है। स्तनपान में चूक से बच्चें का स्वास्थ्य बिगड़ जाता है। इस संबंध में जन-जागृति के प्रयास किए जाना जरुरी हैं। उन्होंने कहा कि स्वस्थ्य समाज के लिए सबका साथ सबका विकास और विश्वास के साथ कार्य करना जरुरी है। समाज और समाज सेवी संस्थाओं की यह जिम्मेदारी है कि वह समाज के वंचित वर्गों के साथ जीवंत संवाद कायम करें। उनको जागरुक बनाए।

राज्यपाल पटेल ने कहा कि कोविड आपदा सदी की सबसे बड़ी त्रासदी है। कोविड से बचाव के लिए यह समझना और समझाना जरुरी है कि जान है तो ही जहान है। इसलिए जब तक बहुत जरुरी नहीं हो, घर से बाहर नहीं निकलें। कम से कम दो गज की दूरी बनाकर मिलें और बार-बार हाथ साबुन से धोएँ और सेनिटाइजर का उपयोग करें। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ तीसरी लहर की आशंका बता रहे हैं। प्रार्थना है कि तीसरी लहर नहीं आए किन्तु सावधानी में कोई कमी नहीं होनी चाहिए।

प्रारम्भ में परिषद के सचिव श्री अनिल सिलवड़े ने परिषद की संरचना और संयुक्त सचिव श्री आशुतोष शास्त्री ने परिषद की गतिविधियों के संबंध में जानकारी दी। राज्यपाल के अपर सचिव श्री मनोज खत्री, विधि अधिकारी श्री डी.पी.एस. गौर सहित राजभवन के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

4

3

2

1

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को होटल आई.टी.सी मौर्य, नई दिल्ली में आयोजित  TIMES NOW SUMMIT – 2022 में प्रतिभाग किया।

राज्य में होने वाले विकास को सुनिश्चित करेगा चिंतन शिविर।  उत्तराखंड   Dehradun  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य में चिंतन शिविर का अपना...

राजधानी देहरादून में आज दूसरे दिन भी कई कारोबारियों के ठिकानों पर इनकम टैक्स की कार्रवाई जारी

उत्तराखंड   देहरादून  आज शुक्रवार को भी राजधानी देहरादून में कई कारोबारियों के ठिकानों पर इनकम टैक्स कार्रवाई जारी है। बृहस्पतिवार सुबह आयकर विभाग के अधिकारी...

 प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण में 18602 अतिरिक्त आवास की स्वीकृति मिली, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केंद्रीय मंत्री का आभार व्यक्त किया

 डबल इंजन का प्रदेश को मिल रहा फायदाः सीएम धामी  उत्तराखंड   Dehradun  केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण में उत्तराखण्ड के लिये 18602 अतिरिक्त आवास...

मुख्य सचिव ने राजस्व वादों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व वादों के तेजी से निस्तारण के दिए निर्देश

उत्तराखंड   देहरादून।  मुख्य सचिव डॉ. एस.एस. संधु ने शुक्रवार को सचिवालय में राजस्व वादों की समीक्षा बैठक के दौरान राजस्व वादों के तेजी से निस्तारण...

भोपाल काफी सुंदर और समृद्ध शहर- एक्टर कौशिक, प्रमुख सचिव शुक्ला से की सौजन्य भेंट

मध्यप्रदेश बॉलीवुड के ख्यात डायरेक्टर, प्रोड्यूसर एवं एक्टर सतीश कौशिक ने शुक्रवार को मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड कार्यालय में प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति और बोर्ड...

म.प्र. में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कृषि क्षेत्र के विकास में दिया विशेष ध्यान – केन्द्रीय मंत्री गडकरी

मध्य-प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों की आर्थिक समृद्धि के लिए मध्यप्रदेश में अनेक महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। गेहूँ उत्पादन...