Tuesday, August 16, 2022
Home क्राइम CYBER BULLETIN : साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 13...

CYBER BULLETIN : साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 13 फरवरी 2021, संध्या 5 pm की साइबर बुलेटिन

CYBER BULLETIN : साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज दिनांक 13 फरवरी 2021, संध्या 5 pm की साइबर बुलेटिन

1- टिहरी गढवाल निवासी एक व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज करायी गयी कि कि वे अपनी बहन के साथ देहरादून उपचार हेतु आये थे , किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनकी बहन को फोन कर स्वंय को अस्पताल से बताते हुये मेडिकल बिल भुगतान की बात कहते हुये गूगल पे के माध्यम से पेमेन्ट करने हेतु ओटीपी भेजने हेतु बताया जिस पर उनकी बहन द्वारा उक्त व्यक्ति की बातो में आकर उनके मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी को उक्त अज्ञात व्यक्ति को बता दिया गया जिस पर उनके खाते से अज्ञात व्यक्ति द्वारा रुपये 57104/- की धोखाधडी की गयी  । उक्त प्रार्थना पत्र से साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून के उ0नि0 राजेश ध्यानी द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुये सम्बन्धित गेटवे से पत्राचार/समन्वय स्थापित कर साईबर अपराधी द्वारा ई-वॉलेट में प्राप्त धनराशि को फ्रीज कराते हुये  रुपये 40,000/- शिकायतकर्ता के खाते में वापस करायी गयी। संदिग्ध के सम्बन्ध मे जानकारी की जा रही है ।

2-राजावाला सहसपुर देहरादून निवासी एक पूर्व सैन्य अधिकारी द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करायी कि उनके द्वारा ओ0एल0एक्स (OLX) पर स्वीफट गाड़ी बेचने का विज्ञापन देखा गया, विज्ञापन पर दिये गये वाहन विक्रेता के फोन नम्बर से सम्पर्क किया गया तो उक्त द्वारा अपने को भारतीय वायुसेना में जोधपुर राजस्थान में नियुक्त होना बताते हुये वाहन बेचने की बात कही गयी तथा अपनी आईडी मुझे वॉट्सअप के माध्यम से भेजी गयी । वाहन का सौदा 3 लाख में तय होने पर उनके द्वारा उक्त वाहन को भारतीय सेना की डाक एवं पार्सल सेवा के द्वारा भेजने की बात कही गयी जिस हेतु 5100/- रुपये बताये गये बैंक खाते मे जमा करने हेतु कहा गया, जो मेरे द्वारा बताये गये बैंक खाते मे रु0 5100/- जमा करा दिये गये, इसके उपरान्त मुझे एक अन्य व्यक्ति जिसने स्वयं को CISF में नियुक्त होना बताया गया तथा उक्त वाहन को बार्डर से पार कराने हेतु रु0 9999/- की मांग की गयी, इसके उपरान्त विभिन्न तिथियो में बार्डर पास, GST एवं अन्य टैक्स के नाम पर कुल 35000/- बैंक खातो में जमा कराकर धोखाधड़ी की गयी  । उक्त प्रकरण की जांच उ0नि0 राजेश ध्यानी द्वारा की गयी व सदिग्ध बैक खाते की जानकारी की गयी तो उक्त बैक खाता राजस्थान राज्य का होना पाया गया व सदिग्ध मोबाइल धारक की जानकारी सम्बन्धित दूरभाष कम्पनी से की गयी तो उक्त नम्बर असम राज्य के होने पाये गये प्रकरण आवश्यक कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है ।

3-राजपुर रोड देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़ में प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया, जिसमे उनके द्वारा बताया गया कि उनके पास अपने सेविंग बैंक खाते के साथ उक्त बैंक का क्रेडिट कार्ड लिया गया है । शिकायतकर्ता द्वारा अपने क्रेडिट कार्ड से 38219/- की शॉपिंग की गयी जिसे उनके द्वारा क्रेडिट कार्ड को भुगतान भी किया जा चुका है। उसके कुछ समय पश्चात किसी अज्ञात व्यक्ति/साईबर अपराधी द्वारा उनके क्रेडिट कार्ड से विभिन्न तिथियो में कुल 28,467/- रुपये की निकासी कर उनके साथ धोखाधड़ी की गयी है । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक निर्मल भट्ट के द्वारा शिकायतकर्ता से उपलब्ध विवरण के आधार पर जानकारी प्राप्त करते हुये तत्काल सम्बन्धित नोडल अधिकारी Razorpay, Mobikwik एवं Bank of Baroda से सम्पर्क कर विवरण उपलब्ध कराने एवं धनराशि को रिफण्ड कराने हेतु मेल प्रेषित की गयी । जिसमें सम्बन्धित वॉलेट द्वारा उक्त साईबर अपराधी के वॉलेट को बन्द करते हुये अवगत कराया गया है कि धनराशि संदिग्ध द्वारा प्रयोग किया जा चुका है । संदिग्ध व्यक्ति /लाभार्थी खाता धारक के समस्त विवरण प्राप्त कर प्रकरण में अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को भेजा जा रहा है ।

4- एमडीडीए कालोनी निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़ को एक शिकायती प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि अज्ञात मोबाईल नम्बर द्वारा अपने आप को उनका परिचित बताकर पैसे डालने के नाम पर गुगल पे के द्वारा बारकोड दिया गया, जिस पर शिकायतकर्ता द्वारा उस पर विश्वास करते हुए बारकोड को स्कैन किया गया तो  उनके खाते से 32,500/-रु0 निकाल लिये गये उक्त प्रार्थना पत्र की जांच उ0नि0 राजेश ध्यानी द्वारा की गयी तथा शिकायतकर्ता से प्राप्त विवरण के आधार पर सम्बन्धित ई-वॉलेट कम्पनी पेटीएम से सम्पर्क किया गया तो ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि नई दिल्ली के पेटीएम खाते में जानी पायी गयी सम्बन्धित पेटीएम को मेल प्रेषित कर वॉलेट को फ्रीज कराया गया है, तथा मोबाइल धारक की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर आसाम व पश्चिम बंगाल  का होना पाया गया । प्रकरण आवश्यक कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद को प्रेषित किया जा रहा है  ।
साईबर सुरक्षा टिप

कभी भी अपनी व्यक्तिगत या बैंकिग डिटेल्स फोन व वाट्सअप कॉल पर किसी से भी साझा न करें । कोई भी बैंक या वॉलेट आपको फोन कर आपकी बैंकिग डिटेल नही मांगता है ।

कृपया गूगल या अन्य किसी सर्च इंजन पर किसी कम्पनी / बैंक का कस्टूमर केयर नम्बर न ढूंढें । कस्टमर केयर का नम्बर सम्बन्धित कम्पनी / बैंक की अधिकारिक वैबसाईट से ही देखें ।

कभी भी किसी से अपने डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड की जानकारी शेयर न करें । कोई भी बैंक या वॉलेट आपको फोन कर आपकी बैंकिग डिटेल नही मांगता है ।

फेसबुक, मेट्रीमोनियल साईट्स, डेटिंग एप्प व अन्य सोशल साईट्स में किसी भी अज्ञात व्यक्ति/महिला से मित्रता न करें न ही उसके बहकावें मे आये ।

किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए–
संपर्क: 0135-2655900
email- ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in
फेसबुक – https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/
“अपराधियों को करो बेनकाब,
अपराध को न करे नज़र अंदाज़”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम