Friday, August 12, 2022
Home दिल्ली राष्ट्रीय शोषित परिषद के नए परिसर के उद्घाटन में बोले सीएम केजरीवाल,...

राष्ट्रीय शोषित परिषद के नए परिसर के उद्घाटन में बोले सीएम केजरीवाल, गरीबों की शिक्षा के लिए किए क्रांतिकारी बदलाव

सीएम केजरीवाल ने राष्ट्रीय शोषित परिषद के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। उन्होंने भवन के उद्घाटन के लिए आमंत्रित करने के लिए राष्ट्रीय शोषित परिषद और उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष जय भगवान का धन्यवाद दिया।

नई दिल्ली :
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को ‘राष्ट्रीय शोषित परिषद’ के नए परिसर का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी और सरकार पिछले 5 साल से गरीबों और दलितों की भलाई के लिए काम कर रही है। पिछले 70 साल में सभी राजनीतिक दलों ने गरीबों की शिक्षा को लेकर कोई प्रयास नहीं किए, लेकिन आप सरकार ने एजुकेशन सेक्टर में क्रांतिकारी बदलाव किए हैं। दिल्ली सरकार ने बाबा साहब आंबेडकर के सपनों को पूरा करने के लिए काम किया है। दिल्ली सरकार ने जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना लागू की है, जिसमें दलित स्टूडेंट्स को फ्री कोचिंग दी जाती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार एक तरफ दलित समाज के बच्चों को निशुल्क शिक्षा दे रही है, तो दूसरी ओर उनके लिए रोजगार का भी इंतजाम करने की कोशिश कर रही है। पिछले 70 साल से एक साजिश के तहत दलितों व गरीबों को अनपढ़ रखा गया, ताकि वे गरीब के गरीब रह जाएं। बाबा साहब ने संविधान के अंदर बराबरी का हक दिया है, लेकिन अभी तक वे सारे अधिकार नहीं मिले हैं। बाबा साहब ने कहा था कि दलित समाज को सबके साथ बराबरी और उत्थान करना है, तो उसकी चाबी केवल शिक्षा है। हम उस चाबी को पकड़कर सभी को निशुल्क शिक्षा दे रहे हैं। हमारी सरकार मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के तहत दलित बच्चों की कोचिंग का खर्च उठा रही है और बिना किसी गारंटी और सिक्योरिटी लिए 10 लाख रुपये तक लोन दे रही है।

सीएम केजरीवाल ने राष्ट्रीय शोषित परिषद के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। उन्होंने भवन के उद्घाटन के लिए आमंत्रित करने के लिए राष्ट्रीय शोषित परिषद और उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष जय भगवान का धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि परिषद पिछले 40 सालों से देशभर में शोषित समाज, दलित समाज के लिए देश के कोने कोने में जाकर उनकी आवाज बनी है और उनके लिए काम कर रही है।

 

 

 

 

Source Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम