Friday, February 3, 2023
Home मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान : हरदा के वृक्षारोपण अभियान में लगे कार्यकर्ताओं...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान : हरदा के वृक्षारोपण अभियान में लगे कार्यकर्ताओं का भोपाल में सम्मान होगा

विश्व पर्यावरण दिवस पर हरदा में आयोजित कार्यक्रम को मुख्यमंत्री चौहान ने वर्चुअली किया संबोधित

मध्यप्रदेश ,

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमें आने वाली पीढ़ी के लिए धरती बचाना है। धरती को बचाने में प्रत्येक व्यक्ति पेड़ लगाकर सहयोग दे सकता है। हमें वृक्ष मित्र और पर्यावरण मित्र बन कर, आने वाली पीढ़ियों के लिए पर्यावरण-संरक्षण के अपने दायित्व का निर्वहन करना ही होगा। हरदा में सुभाष मंच द्वारा पर्यावरण-संरक्षण के लिए संचालित गतिविधियों से मैं अभिभूत हूँ। हरदा के वृक्षारोपण अभियान में लगे कार्यकर्ताओं का भोपाल में सम्मान किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर सुभाष मंच, हरदा द्वारा “आत्मनिर्भर कृषक – आत्म-निर्भर कृषि” में आयोजित वृहद वृक्षारोपण कार्यक्रम को निवास कार्यालय से वर्चुअली संबोधित कर रहे थे। हरदा में आयोजित कार्यक्रम में कृषि मंत्री कमल पटेल, वरिष्ठ समाज सेवी, पर्यावरण प्रेमी तथा सुभाष मंच, हरदा के संस्थापक गौरी शंकर मुकाती उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के कारण धरती का अस्तित्व संकट में है। पर्यावरण-संरक्षण के लिए जितना काम होना चाहिए, उतना नहीं हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत में पर्यावरण-संरक्षण के लिए समय-सीमा में कार्य पूर्ण करने के लिए लक्ष्य निर्धारित किया है। इसमें हम सबको योगदान देना होगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मैं, प्रतिदिन एक पौधा रोपता हूँ, और पेड़ लगाने से ही स्वयं को सम्पूर्ण अनुभव करता हूँ। जब तक पेड़ न लगा लूं तब तक कुछ अधूरा सा लगता है। वृक्षारोपण कर हम एक प्रकार से साँसें लगा रहे हैं। पेड़ ऑक्सीजन देने के साथ-साथ, नदियों को जल और कई जीव-जन्तुओं को आश्रय प्रदान करते हैं। धरती के तापमान में हो रही वृद्धि से भयानक स्थिति उत्पन्न होगी, इससे बचाव का वृक्षारोपण ही एकमात्र उपाय है।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने बताया कि सुभाष क्लब द्वारा हरदा सहित बैतूल, होशंगाबाद,खण्डवा और सीहोर में पाँच करोड़ पौधे लगाने का संकल्प लिया गया है। इसके लिए मुम्बई की “ग्रो ट्रीज़” कम्पनी के साथ एग्रीमेंट भी हुआ है। विश्व पर्यावरण दिवस पर सुभाष मंच के 400 सहयोगी और डेढ़ लाख किसान अपनी निजी भूमि में मेढों पर पौधे लगा रहे हैं। “आत्म-निर्भर कृषक-आत्म निर्भर कृषि”, संसाधनों के कुशल और वैज्ञानिक प्रबंधन की अवधारणा है। इसके अंतर्गत मेढ़ों और अनुपयोगी भूमि पर सागौन और फलदार वृक्षों का रोपण करके किसानों के लिए भविष्य- निधि निर्माण की परिकल्पना है। नदियों के तटों को भूमि-कटाव से बचाने और बाढ़ नियंत्रण के लिए भी वृक्षारोपण को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इससे खेतों में प्रयोग किए गए कीटनाशकों को सीधे नदियों में जाने से रोकने में भी मदद मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

केन्द्रीय मंत्री गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी राज्य मंत्री कुशवाह ने की भेंट

मध्य-प्रदेश केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से प्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने नई...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी : ” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की बन गई है।”

उत्तराखंड, Dehradun ; मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत की भूमिका ग्लोबल लीडर की...

मंत्री सतपाल महाराज ने चौबट्टाखाल को फिर दिया 37 करोड़ की योजनाओं का तोहफा

जयहरीखाल (पौडी)। चौबट्टाखाल विधायक और प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने एक...

मार्शल आर्ट सिर्फ एक खेल ही नहीं बल्कि सिखाता है आत्म सुरक्षा का गुर-रेखा आर्या

  रुड़की   प्रदेश की खेल मंत्री रेखा आर्या आज रुड़की स्थित कोर विश्वविद्यालय पहुंची जहां वह विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित 23वीं SQAY "मार्शल आर्ट राष्ट्रीय स्तरीय...

मंत्री सतपाल महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

महाराज ने दिये “नंदा गौरा देवी कन्या धन योजना” आवेदन की तिथि बढ़ाने के निर्देश

देहरादून। प्रदेश के पंचायती राज मंत्री सतपाल महाराज ने महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग के सचिव हरिश्चंद्र सेमवाल को "नंदा गौरा देवी कन्या...

शिक्षा, अनुसंधान केंद्र और उद्योगों में साझेदारी समय की आवश्यकता : राज्यपाल मंगुभाई पटेल

उच्च शिक्षा की उत्कृष्टता, प्रसार और मूल्यांकन के प्रति सजग हों  -   राज्यपाल पटेल स्टेट लेवल एनालिसिस ऑफ एक्रिडेटेड हायर एजुकेशन इंस्टीट्यूशन के प्रतिवेदन का...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्लेबेक सिंगर शान, नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर शिवमणि का स्वागत किया

मध्य-प्रदेश; मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुप्रसिद्ध प्लेबेक सिंगर शान तथा नीति मोहन और म्यूजिक कंपोजर  शिवमणि का मुख्यमंत्री निवास परिसर स्थित समत्व भवन में...

कर्तव्य पथ पर पहली बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ने प्रथम स्थान पाकर बनाया इतिहास

 उत्तराखंड   Dehradun  गणतंत्र दिवस परेड को अभी तक राजपथ के नाम से जाना जाता था, किंतु इस वर्ष उसका नाम बदलकर कर्तव्य पथ रखा गया...

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की स्टेच्यू ऑफ वननेस प्रोजेक्ट की समीक्षा

ओंकारेश्वर के मास्टर प्लान एवं इंदौर से ओंकारेश्वर की फोर लेन कनेक्टिविटी पर भी ध्यान दें आदि शंकराचार्य की प्रतिमा अगस्त 2023 तक स्थापित की...