Tuesday, September 27, 2022
Home अंतर्राष्ट्रीय अमेरिका: बाइडेन प्रशासन ने बताया भारत का कश्‍मीर, पाकिस्‍तान को लगी तीखी...

अमेरिका: बाइडेन प्रशासन ने बताया भारत का कश्‍मीर, पाकिस्‍तान को लगी तीखी मिर्ची

हाइलाइट्स:

  • जो बाइडेन प्रशासन के कश्‍मीर को भारत का बताए जाने पर पाकिस्‍तान भड़क गया है
  • पाकिस्‍तान ने इसका विरोध दर्ज कराया है और कश्‍मीर को विवादित इलाका बताया है
  • अमेरिका के विदेश मंत्रालय के दक्षिण एवं मध्य एशिया ब्यूरो के एक ट्वीट पर मचा बवाल

वॉशिंगटन/इस्‍लामाबाद
अमेरिका के जो बाइडेन प्रशासन के कश्‍मीर को भारत का बताए जाने पर पाकिस्‍तान भड़क गया है। पाकिस्‍तान ने इसका विरोध दर्ज कराया है। दरअसल, अमेरिका के विदेश मंत्रालय के दक्षिण एवं मध्य एशिया ब्यूरो ने एक ट्वीट किया था, जिसमें उसने कहा था कि भारत के जम्मू-कश्मीर में 4जी इंटरनेट सुविधा बहाल होने का हम स्वागत करते हैं। इस ट्वीट पर पाकिस्‍तान को तीखी मिर्ची लगी है।

अमेरिकी विदेश विभाग की ओर से जम्मू-कश्मीर में 4जी इंटरनेट सेवा बहाल होने का जिक्र अपने ट्वीट में करने पर पाकिस्तान ने गहरी निराशा जाहिर की है। इस्लामाबाद में पाकिस्तान के विदेश विभाग ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर के दर्जे को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अनेक प्रस्तावों में तथा अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा विवादित माना गया है, ऐसे में यह जिक्र असंगत है।’ पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी इस विवाद में कूद पड़े हैं।

‘कश्‍मीर में जमीनी हकीकत को अनदेखा नहीं करना चाहिए’
शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि बाइडेन प्रशासन को कश्‍मीर में जमीनी हकीकत को अनदेखा नहीं करना चाहिए। उन्‍होंने दुनिया से अपील की कि कश्‍मीर मुद्दे का शांतिपूर्वक समाधान होना चाहिए। कुरैशी ने कहा कि बाइडेन प्रशासन मूलाधिकारों की बात करता है लेकिन कश्‍मीर में जमीनी हकीकत को अनदेखा कर रहा है। उधर, इस विवाद पर बाइडन प्रशासन की ओर से बुधवार को कहा गया कि उसकी जम्मू-कश्मीर संबंधी नीति में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

ट्वीट के बारे में पूछे जाने पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नेड प्राइस ने पत्रकारों से कहा, ‘मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि क्षेत्र में अमेरिका की नीति में कोई बदलाव नहीं किया गया है।’ विदेश मंत्रालय के दक्षिण एवं मध्य एशिया ब्यूरो ने ट्वीट किया था, ‘भारत के जम्मू-कश्मीर में 4जी इंटरनेट सुविधा बहाल होने का हम स्वागत करते हैं। यह स्थानीय निवासियों के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और हम जम्मू-कश्मीर में सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए राजनीतिक एवं आर्थिक प्रगति जारी रखने को लेकर आशावान हैं।’

कश्मीर में पांच फरवरी को 4जी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल
बता दें कि समूचे जम्मू-कश्मीर में पांच फरवरी को 4जी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई थी। ठीक डेढ़ साल पहले अगस्त 2019 में केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा हटाकर इसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया था, जिसके बाद 4जी इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी। इस बीच, अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा जम्मू-कश्मीर में 4जी इंटरनेट सेवा बहाल होने का जिक्र अपने ट्वीट में करने पर पाकिस्तान ने निराशा जाहिर की।

Source Link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

नवीनतम

9

8

7

6

5

4

3

2

1

प्रधानमंत्री आवास योजना में तकनीकी कारणों से कोई गरीब वंचित न रहे – मुख्यमंत्री चौहान

 मध्य-प्रदेश  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हम बेहतर कार्य करते हुए प्रदेश को विकास के पथ पर अग्रसर करें और प्रदेशवासियों को...